एएमजी-। का लेखापरीक्षा अधिकार क्षेत्र

इस समूह को निम्‍नलिखित 08 मंत्रालयों और 01 विभाग की लेखापरीक्षा सौंपे गये है :

इन मंत्रालयों/विभागों में सीएजी (डीपीसी) अधिनियम 1971 की धारा 13 15 के अंतर्गत 51 विभागों/जुड़े हुए/अधीनस्‍त कार्यालयों/सहायता अनुदान लेखापरीक्षाएं और धारा 14, 19(2) और 20(1) के अंतर्गत 27 स्‍वायत्‍त निकायों की लेने-देन लेखापरीक्षा शामिल है। इसके अलावा, यह समूह इन कार्यालयों के अंतर्गत 23 वित्‍त/विनियोग लेखाओं, 09 वेतन एवं लेखा कार्यालयों, 06 स्‍वायत्‍त निकायों के वार्षिक लेखाओं के प्रमाणन और 01 बाह्य रूप से सहायता प्राप्‍त परियोजना की लेखापरीक्षा के लिए उत्तरदायी है। लेखापरीक्षा संस्‍थाओं/इकाईयों को आगे चार प्रकारों में वर्गीकृत किया गया हैं।

    (i) वित्‍तीय/प्रमाणीकरण लेखापरीक्षा: इसमें सीएजी (डीपीसी) अधिनियम की धारा 19 एवं 20 के अंतर्गत आवृत्‍त वित्‍त लेखे, विनियोग लेखे, स्‍वायत्‍त निकायों के लेखाओं का प्रमाणीकरण की लेखापरीक्षा और मंत्रालयों के प्रधान पीएओ और पीएओ की लेखापरीक्षा शामिल है।

    (ii) निष्‍पादन लेखापरीक्षा/विषयक सीक्षाएं।

    (iii) आईटी लेखापरीक्षाएं।

    (iv) धारा 13, 14, 15, 19 और 20 के अंतर्गत लेन-देन/अनुपालन लेखापरीक्षा।